बैंक ऑफ बदौड़ा ने एमसीएलआर बेस्ड लोन की ब्याज दरों में 0.10% तक कटौती की, नए ग्राहकों को तुरंत फायदा मिलेगा

नई दिल्ली. बैंक ऑफ बड़ौदा ने लोन की मार्जिनल कॉस्ट ऑफ फंड बेस्ड ब्याज दरों (एमसीएलआर) में 5 से 10 बेसिस प्वाइंट यानी 0.05% से 0.10% तक कमी की है। बैंक का एक साल का एमसीएलआर अब 8.25% की बजाय 8.15% होगा। नई दरें 12 फरवरी से लागू होंगी। इससे नए ग्राहकों के लिए होम, ऑटो और दूसरे लोन सस्ते हो जाएंगे। एक महीने के एमसीएलआर में 0.05% कमी की गई है।


पिछले हफ्ते एसबीआई ने एमसीएलआर में 0.05% कमी की थी
आरबीआई ने पिछले साल रेपो रेट में लगातार 5 बार कमी करते हुए कुल 1.35% कटौती की थी, लेकिन बैंकों ने ग्राहकों को उतना फायदा नहीं दिया। इसलिए, आरबीआई ने 1 अक्टूबर से ब्याज दरों को रेपो रेट जैसे बाहरी बेंचमार्क से जोड़ना अनिवार्य कर दिया था। ताकि, आरबीआई रेट घटाए तो बैंकों को भी तुरंत कटौती करनी पड़े और ग्राहकों को जल्द फायदा मिल जाए। बैंकों ने ब्याज दरें रेपो रेट से तो जोड़ दीं, लेकिन एमसीएलआर की व्यवस्था भी बरकरार रखी है। पिछले हफ्ते एसबीआई ने भी एमसीएलआर में 0.05% की कमी की थी। एसबीआई की नई दरें लागू हो चुकी हैं।


एमसीएलआर में कमी का फायदा रेपो रेट वाले ग्राहकों को नहीं मिलेगा


रेपो रेट से लिंक लोन की व्यवस्था में आरबीआई के रेपो रेट घटाने पर ग्राहकों को तुरंत तो नहीं लेकिन जल्द फायदा मिल जाता है। प्रमुख बैंक रेपो रेट वाले कर्ज की ब्याज दरों को तीन महीने में रीसेट करते हैं। जबकि, एमसीएलआर वाले ज्यादातर कर्ज की रीसेट डेट में एक साल का अंतराल होता है। हालांकि, नए ग्राहकों को तुरंत फायदा मिल जाता है।



Popular posts
सुबह के वक्त उज्जैन व वाराणसी पहुंचेगी ज्योतिर्लिंग एक्सप्रेस,20 फरवरी को वाराणसी से चलाया जाएगा
भोपाल में होगा पानी सहेजने और बचाने पर मंथन,राइट टू वाटर पर कॉन्फ्रेंस आज,मैग्सेसे पुरस्कार विजेता राजेंद्र सिंह शिरकत करेंगे
एक महिला को दो युवकों ने बताया अपनी पत्नी; दोनों बोले- मुझसे हुई है शादी, पुलिस ने कहा- कोर्ट जाएं
हजारों होमगार्ड का भोपाल में प्रदर्शन, कहा- जवान कब तक 'स्वयंसेवी' बने रहेंगे; सड़क पर धरना देने आए तो पुलिस ने अंदर किया
श्रीलंका में बनेगा भव्य सीता माता मंदिर; मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा- मंदिर का डिजाइन जल्द तैयार किया जाएगा